योगी आदित्यनाथ को CM बनाने के लिए फकीर बाबा ने लगाई थी समाधि, 41 दिन बाद तोड़ा ध्यान

यूपी चुनाव में टक्करतो सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और समाजवादी पार्टी (सपा) के बीच चल रही थी तो वहीं संत-फकीर भी योगी आदित्यनाथ को फिर से मुख्यमंत्री बनाने के लिए कामना कर रहे थे. आगरा के एक फकीर बाबा ने तो 41 दिन यानी तकरीबन डेढ़ महीने पहले योगी को फिर से सीएम बनाने की कामना के साथ समाधि लगा ली थी. फकीर बाबा अब नतीजे आने के बाद अपना ध्यान तोड़ दिया है.समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक आगरा के फकीर बाबा पिछले 41 दिन से समाधि में लीन थे. फकीर बाबा खाना-पानी सबका त्यागकर 41 दिन से समाधि में थे. फकीर बाबा ने समाधि लेने से पहले प्रतिज्ञा की थी कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ फिर से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने तभी अपनी समाधि से बाहर आऊंगा. यूपी चुनाव नतीजों के बाद फकीर बाबा ने अपना ध्यान तोड़ दिया है.फकीर बाबा का कहना है कि योगी आदित्यनाथ को पशुओं से बहुत प्यार है. वे सभी का ध्यान रखते हैं. उन्होंने इसी से प्रभावित होकर मैंने सोचा था कि योगी आदित्यनाथ फिर से मुख्यमंत्री बनें और इसके लिए समाधि ली,योगीआदित्यनाथकोCMबनानेकेलिएफकीरबाबानेलगाईथीसमाधिदिनबादतोड़ाध्यान ध्यान किया. राष्ट्रीय बजरंग दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोज कुमार ने फकीर बाबा को बहुत ही पहुंचा हुआ संत बताया.मनोज कुमार ने कहा कि फकीर बाबा ने प्रतिज्ञा की थी कि योगी आदित्यनाथ फिर से मुख्यमंत्री बनें. उन्होंने कहा कि अब बीजेपी को पूर्ण बहुमत मिल गया है. राष्ट्रीय बजरंग दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष के मुताबिक फकीर बाबा ने 41 दिन तक खाना-पानी का त्याग कर समाधि ले रखी थी.गौरतलब है कि यूपी के चुनाव नतीजे में बीजेपी को प्रचंड बहुमत मिला है. बीजेपी गठबंधन को 273 सीटों पर जीत मिली. सपा के नेतृत्व वाले विपक्षी गठबंधन को 125 सीटों से संतोष करना पड़ा है.
相关内容
推荐内容