您的当前位置:首页 >आईपीएल टेबल >'लता जी को भगवान का भेजा फरिश्ता मानती हूं, उनसे नहीं मिल पाने का रहेगा अफसोस' बोलीं मधु 正文

'लता जी को भगवान का भेजा फरिश्ता मानती हूं, उनसे नहीं मिल पाने का रहेगा अफसोस' बोलीं मधु

时间:2023-11-30 16:45:01 来源:网络整理编辑:आईपीएल टेबल

核心提示

लता मंगेशकर की याद में आजतक ने एक खास इवेंट का आयोजन किया. इस खास इवेंट का नाम श्रद्धांजलि: 'तुम मुझ

लता मंगेशकर की याद में आजतक ने एक खास इवेंट का आयोजन किया. इस खास इवेंट का नाम श्रद्धांजलि: 'तुम मुझे भुला ना पाओगे' है. लता मंगेशकर भले ही दुनिया को अलविदा कहकर चली गई हैं लेकिन उनकी यादें उसने जुड़े लोगों और चाहनेवालों को हमेशा उनसे जोड़े रखेंगी. लता मंगेशकर के बारे में बात करने के लिए एक्ट्रेस मधु इस इवेंट.मधु ने मॉडरेटर नेहा बाथम संग यादों कोसाझा किया.मधु बताती हैं कि उनकी मां लता मंगेशकर की बड़ी फैन थीं. मधु के मुताबिक,लताजीकोभगवानकाभेजाफरिश्तामानतीहूंउनसेनहींमिलपानेकारहेगाअफसोसबोलींमधु उन्होंने कभी भी अपनी मां को इतना किसी के पीछेदीवाना नहीं देखा था. मधु, सीनियर एक्ट्रेस हेमा मालिनी की कजिन हैं. उनका रिश्ता लता मंगेशकर के साथ गहरा कनेक्शन था. मधु ने बताया-मेरीमां का सपना था कि मैं एक्ट्रेस बनूं और जब मैं एक्ट्रेस बनीं तब मेरी मां दुनिया में नहींथीं. मेरे साथ जो फनी बात है वो यह है कि मैं कभी भी लता मंगेशकर से मिल नहीं पाई.लता मंगेशकर की आवाज पर मधु ने एक ही गाने पर परफॉर्म किया था. इस गाने पर उन्हें गर्वहै. फिल्म 'ऐलान' के गानेनैनों को बातें करने दो को लता मंगेशकर ने गायाथा. इस गाने को लता मंगेशकर ने बेहद खूबसूरती से गाया था. मधु कहती हैं- 'वो गाना ऊटी में शूट हो रहा था. तब हीरो बूट पैंट और जैकेट पहकर परफॉर्म कर रहे थे और मैं एक हल्की सी सिल्क की साड़ी में थी. इस गाने को शूट करते हुए बहुत मजा आया था क्योंकि लता जी की आवज में जो रोमांस था, उसकी वजह से हमें ज्यादा एक्टिंग करने की जरूरत नहीं हुई थी.'मधु ने आगे कहा, 'जब लता जी गाती थीं तो उनकी आवाज में ही इमोशंस और एक्टिंग भरी हुई होती थी. आज भी लोग मुझे कहते हैं कि तुम बहुत बढ़िया थीं उस गाने में. बहुत सेंसिटिव थीं. पर मैं कहती हूं कि यह लता जी की वजह से है. मैं लता जी को भगवान का भेजा फरिश्ता मानती हूं. म्यूजिक के रेवोलुशन के दौर में वह सबसे आगे थीं. उनकी आवाज दैवीय थी. मैं मानती हूं कि अगर लता जी मंदिर में देवी के सामने गाएं तो देवी भी बाहर आ जातीं.'